Top 5 Mutual Fund: जिसमें निवेश कर सिर्फ 5 साल में बन सकते है करोड़पति 2024

Rate this post

Top 5 Mutual Fund – म्यूच्यूअल फंड एक विशिष्ट प्रकार का निवेश है, जो विभिन्न विभिन्न सेक्टरों और विभिन्न निवेश स्कीमों के जरिए की जाती है. यह एक सुरक्षित तरीका है निवेश करने का और यह निवेशकों को उच्च रिटर्न देने की संभावना भी प्रदान करता है.अधिकतम लाभ के लिए, निवेशकों को अपने निवेश के लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए सही Mutual Fund का चयन करना चाहिए.

आज हम टॉप 5 ऐसे म्यूच्यूअल फंड के बारे में बात करेंगे जिनमें निवेश कर आप सालाना अच्छा रिटर्न कमा सकते है. यह सभी फंड अगले 5 से 10 सालो में अच्छा रिटर्न देने का समर्थ रखते है और पिछले कुछ वर्षो में अच्छा रिटर्न दे कर अपने निवेशकों को खूब माला माल किया है.यह सभी 10 स्टॉक फंड ऐसे फंड है जो बैंक और पोस्ट ऑफिस के मुकाबले ज्यादा पैसा बना कर दे सकते है.

अगर आप पिछले कई वर्षो से नौकरी कर रहे है और आपकी ज्यादा सैलरी नहीं है, तो इस फोर्मुले से आप हर महीने में छोटी से छोटी राशि जोड़कर बड़ा फंड बना सकते है.यदि आपकी सैलरी केवल 15 हज़ार या 20 हज़ार रूपये महिना है, तो भी आप Mutual Fund में SIP करके अपने पोर्टफोलियो में मोटा पैसा जमा कर सकते है.

मिनिमम कितने तक की राशि निवेश या SIP कर सकते है

नए नियम के मुताबिक आज के समय में गरीब से गरीब इंसान भी सिर्फ 100 रूपये की मंथली राशि या फिर 500 रूपये तक की राशि महीने दर महीने जमा कर लॉन्ग टर्म में SIP की शुरुआत कर सकता है. यदि आप लंबे समय तक के लिए SIP यानि निवेश करते है तो आपको बेहतर रिटर्न मिल सकता है जिससे आप फिर से निवेश कर और ज्यादा पैसा कमा सकते है और जल्दी से करोडपति बन सकते है.

हम 5 ऐसे Mutual Fund लेकर आये है,जिसने अच्छा नहीं बल्कि बहुत अच्छा रिटर्न दिया है. तो चलिए जानते है वो टॉप म्यूच्यूअल फंड्स कौन से है. निवेशक अपने रिस्क के हिसाब से इन फंड्स में निवेश कर सकते है, इस लिस्ट में हमने निवेशकों के लिए लार्ज कैप, मिड कैप तथा स्माल कैप, मल्टी कैप के अलावा Flexicap Fund जैसे बेहतरीन फंड्स को शामिल किया है.

SIP में Compounding क्या होता है?


कम्पाउंडिंग (Compounding) एक वित्तीय तकनीक है, जिसमें आप अपनी निवेश से प्राप्त होने वाले लाभ को एक निश्चित समयानुक्रम में दोगुना, तिगुना या उससे भी ज्यादा करते हैं. इसका मतलब है कि जब आप अपनी प्राप्तियों को फिर से निवेश करते हैं, तो आपके पूर्व निवेश से हुए लाभ का भी लाभ होता है. इस तकनीक का फायदा यह है कि लंबे समय तक निवेश करने से आप अपनी आय को बढ़ा सकते हैं.

Compounding इंटरेस्ट कैलकुलेट करने के लिए यहाँ क्लिक करें – Click Now

उदाहरण के लिए, अगर आपने शुरूआत में ₹1,00,000 का निवेश किया और आपके निवेश से सालाना 10% का लाभ हुआ तो आपकी प्राप्ति ₹10,000 होगी. अगले साल अगर आप अपनी प्राप्ति को फिर से निवेश करते हैं तो इस समय आपकी प्राप्ति ₹11,000 होगी. यदि आप इसी तरह से पांच साल तक निवेश करते हैं, तो Mutual Fund निवेश से आपकी प्राप्ति ₹1,61,051 होगी.

इसमें से ₹51,051 आपके निवेश से हुए लाभ का लाभ है, जिसे आपके अस्तित्व में समायोजित करने के लिए उपलब्ध है. इसीलिए, कम्पाउंडिंग इंटरेस्ट एक बहुत ही शक्तिशाली तकनीक है, जो आपकी छोटी सी निवेश की राशि को एक बड़े और निवेश के कई गुना फंड के रूप में बदल देता है.

2023 के लिए टॉप 5 म्यूचुअल फंड निम्नलिखित हैं:


(1) Mirae Asset Large Cap Fund:
यदि आप Mutual Fund के थोड़ा भी जानकार है तो इस फंड के बारे में जरुर जानते होंगे. मिराए एसेट्स ने पिछले कुछ सालो में अपने रेगुलर निवेशकों को खूब मालामाल किया है. इस फंड ने 10 साल में निवेशकों को लगभग 16% तक का सालाना रिटर्न दिया है.

इसके अलावा Direct निवेश यानि की लम्प्सम अमाउंट निवेश करनेवालों को सालाना 16.88% तक रिटर्न दिया है. वहीँ यदि किसी ने सिर्फ 5 साल निवेश किया होता तब भी उसे 10.7% तक का सालाना रिटर्न मिलता जबकि डायरेक्ट निवेश करने वालो को 11.89% तक का रिटर्न मिलता.

(2) SBI Small Cap Fund:
SBI देश का सबसे बड़ा पब्लिक सेक्टर का बैंक है और ग्राहकों के संख्या के हिसाब से यह भारत का नंबर वन बैंक है. एसबीआई ने अपने सभी निवेशकों को साल दर साल कई गुना रिटर्न दिया है. वह चाहे फिक्स्ड डिपाजिट की बात हो या Mutual Fund सभी तरह के निवेश में काफी बढ़िया रिटर्न दिया है.

SBI के इस स्माल कैप फंड्स ने 10 साल तक निवेश करने वाले रेगुलर निवेशकों को 24.60% और डायरेक्ट निवेशकों को 26.01% तक का रिटर्न दिया है. वहिन 5 साल की अवधि में इस फंड ने रेगुलर निवेशकों को 14% तथा डायरेक्ट निवेशकों को 15% तक का रिटर्न प्रोवाइड किया है.

(3) Axis Midcap Fund:
एक्सिस बैंक देश के प्राइवेट सेक्टर बैंक के लिस्ट में टॉप 5 में गिना जात है. वैसे तो यह प्राइवेट सेक्टर का बैंक है, लेकिन यह एक प्रॉफिट मेकिंग बैंक है जो साल दर साल अपने निवेशकों को कई गुना रिटर्न देकर उनका खूब भरोसा जीता है.

इस मिडकैप फंड ने 10 साल में रेगुलर निवेशकों को 19.99% और डायरेक्ट निवेशकों को 19.48% का रिटर्न दिया है. यदि बात करें 5 साल के रिटर्न की तो इस फंड्स में केवल 5 साल निवेश करने वाले लोगों 13.23% तथा डायरेक्ट निवेशकों की 14.69% तक का सालाना रिटर्न दिया है.

(4) Kotak Flexicap Fund:
Kotak Flexicap Fund एक अच्छा Mutual Fund है, जो एक फ्लेक्सिबल निवेश खाता है. इसका उद्देश्य निवेशकों के लिए उचित दायित्व लेना है, जो बाजार की परिस्थितियों के आधार पर बदलता है. यह फंड विभिन्न कंपनियों और क्षेत्रों में निवेश करता है जो उन्हें सबसे अच्छा मानते हैं.

Kotak Flexicap Fund के वर्ष 2021 में सालाना रिटर्न 33.77% था। इसका मतलब है, कि निवेशकों ने इस फंड में निवेश करके उन्हें 1 वर्ष में 33.77% का मुनाफा हुआ. इस फंड ने 10 साल में रेगुलर निवेशकों को करीब 15.74% तक और डायरेक्ट निवेशकों को लगभग 16.90% तक का रिटर्न दिया है.

यदि किसी व्यक्ति ने इस फंड्स में सिर्फ 5 साल के लिए भी निवेश किया होता है तो रेगुलर निवेश पर 10.22% और डायरेक्ट निवेश पर 11.29% तक का सालान रिटर्न मिलता जो की काफी बढ़िया ROI यानि की रिटर्न ओन इन्वेस्टमेंट है.

(5) Nippon India Multi Cap Fund:
Nippon India Multi cap Fund एक अच्छा म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) है, जो विभिन्न कंपनियों और क्षेत्रों में निवेश करता है. इस फंड का उद्देश्य निवेशकों को बढ़ते बाजार में उचित रिटर्न प्रदान करना है. यह फंड विभिन्न श्रेणियों के शेयरों में निवेश करता है जैसे कि लार्ज कैप, मिड कैप और स्मॉल कैप.

Nippon India Multi cap Fund के वर्ष 2021 में सालाना रिटर्न 44.97% था. इसका मतलब है कि निवेशकों ने इस फंड में निवेश करके उन्हें 1 वर्ष में 44.97% का मुनाफा हुआ.

इस फंड ने पिछले 10 साल में अपने मंथली यानि रेगुलर निवेशकों को सालाना 14.67% के हिसाब से और डायरेक्ट निवेशकों को 15.51% तक का रिटर्न दिया है. साथ ही इस मल्टी कैप फंड ने सिर्फ 5 साल में निवेशकों को 11.99% और 12.77% तक का रिटर्न दिया जो की Compounding के हिसाब से सालाना बेसिस पर काफी बढ़िया रिटर्न है.

किसी भी निवेश के लिए सही फंड का चयन करना महत्वपूर्ण है. इस लिए आज के इस पोस्ट में हम आपको कुछ ट्रिक बताने वाले है जिसके मदद से आप अच्छा और सबसे ज्यादा रिटर्न वाला म्यूच्यूअल फंड्स (Mutual Fund) खोज कर निवेश कर सकते है.

Top 5 Mutual Fund


बेस्ट म्यूच्यूअल फंड कैसे चुनें?


अगर आप म्यूच्यूअल फंड (Mutual Fund) में निवेश करना चाहते हैं, तो आपको इस तरह के कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए. Top 5 Mutual Fund

(a) निवेश का उद्देश्य:
आपका निवेश का उद्देश्य क्या है, यह जानना बेहद आवश्यक है. अगर आपका निवेश का उद्देश्य टैक्स सेविंग है, तो आपको एलईएफ (ELSS) जैसे टैक्स सेविंग म्यूच्यूअल फंड (Mutual Fund) की ओर जाना चाहिए. जबकि अगर आप अपने धन को दैनिक खर्चों के लिए निवेश करना चाहते हैं, तो एक शॉर्ट टर्म म्यूच्यूअल फंड एक अच्छा विकल्प हो सकता है.

(b) रिस्क टोलरेंस:
रिस्क टोलरेंस आपकी निवेश योजनाओं को प्रभावित कर सकता है. अगर आप ज्यादा रिस्क उठाने के लिए तैयार हैं, तो आप अधिकतम रिटर्न के लिए उच्च रिस्क वाले Mutual Fund चुन सकते हैं. वहीं, अगर आप निवेश में कम रिस्क उठाना चाहते हैं, तो आप निवेश करने से पहले अपनी रिस्क टोलरेंस को स्पष्ट करें.

(c) फंड का प्रबंधक:
फंड का प्रबंधक उसकी लागत और निवेश रणनीति का फैसला लेता है, इसलिए आपको उस प्रबंधक की कामयाबी और अनुभव को जांचना चाहिए.

(d) निवेश की अवधि:
आपके लक्ष्यों और जरूरतों के आधार पर फंड का निवेश की अवधि चुनना महत्वपूर्ण होता है. जो फंड आपके लक्ष्यों के साथ संगत होता है, वह आपके निवेश के लिए सही होता है.

(e) शुल्क और खर्च:
निवेश फंड के शुल्क और खर्च आपकी निवेश रिटर्न पर प्रभाव डाल सकते हैं, इसलिए Mutual Fund की आपको उनकी जांच करनी चाहिए.

(f) निवेश का अधिकार:
निवेश के अधिकार आपके निवेश को कंट्रोल करने में मदद करते हैं. आपके पास फंड में निवेश करने के लिए उपलब्ध विभिन्न अधिकार होते हैं.
फंड चुनते समय आपको कुछ बातों का खास ध्यान रखना चाहिए. यहां आज हम बताएंगे कि आप कैसे बेस्ट म्यूच्यूअल फंड को चुन सकते हैं.

(g) रिटर्न पर ध्यान केंद्रित करें:
फंड का रिटर्न आपकी निवेश की मुख्य ध्यानाकर्षण का केंद्र होना चाहिए. फंड के पिछले 5 से 10 साल के रिटर्न को देखें और जिन फंडों में अच्छा रिटर्न है, उन्हें चुनें.

(h) फंड का नेट एसेट वैल्यू (NAV) देखें:
फंड का NAV निवेश के मूल्य का एक महत्वपूर्ण मापदंड होता है। फंड का NAV ज्यादा होने से निवेश के मूल्य भी बढ़ते हैं.

निवेश के लक्ष्य के आधार पर फंड चुनें – Mutual Fund चुनते समय अपने निवेश के लक्ष्य के आधार पर फंड चुनना चाहिए. अगर आप अपना निवेश लंबे समय तक रखना चाहते हैं, तो आपको इकलौते फंड की बजाय मल्टीकैप फंड चुनना चाहिए.

Leave a Comment